Indian Army Agniveer Model Test, अगनिवीर आर्मी भर्ती ऑबजेकटिव प्रशन उतर

Advertisement

Indian Army Agniveer Model Test: दोस्तों आज हम इस आर्टिकल के अंदर देखने वाले है, की अगनिवीर ओपन सेना भर्ती से संबंधी पेपर मे आने वाले महत्व पूर्ण प्रशन उतर के बारे मे जानने का प्रियस करेगे जिन से आपको अपने पेपर मे आने वाले परसने के बारे मे आपका नॉलेज ओर बदेगा, Indian Army Agniveer Model Test ,Model Test Agniveer Sena Bharti, आर्मी भर्ती मॉडल टेस्ट, सेना भर्ती रैली जीडी मॉडल टेस्ट, अग्निवीर सेना भर्ती मॉडल टेस्ट, अग्निवीर सेना भर्ती ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन,

हम से जुडने के लिए महत्व पूर्ण लिंक

Advertisement
Telegramयह क्लिक करे
WhatsAppयह क्लिक करे
लेटेस्ट गोरमेंट जॉब्सयह क्लिक करे

हम से जुडने के लिए महत्व पूर्ण लिंक

Army Agniveer Model Test
Army Agniveer Model Test

Indus Valley Civilization Indian Army Agniveer Model Test

भारत की सबसे पुरानी सिंधु घाटी की सभ्यता थी यह मेसोपोटामिया की सभ्यता ओं के साथ-साथ 3350 से 2750 ईसा पूर्व पंछी चाहिए भारत की इस प्राचीन सभ्यता का पता 1922 में डॉ आर डी बनर्जी द्वारा मोहनजोदड़ो सिंध प्रांत के लरकाना जिले तथा

Advertisement

डॉ बी आर साहनी ने हड़प्पा पंजाब के मोंटगोमरी जिले में खुदाई से पता चला यह दोनों उत्तर वर्तमान में पाकिस्तान में है लेकिन इस सभ्यता का विस्तार क्षेत्र वर्तमान में सिंधु बलूचिस्तान पंजाब राजस्थान तथा काठियावाड़ी था

Vedic Civilization Indian Army Agniveer Model Test

वैदिक सभ्यता भारत में सिंधु व पंजाब की सरस्वती नदियों के बीच बंसी है मैक्स मूलर ने विश्व की विभिन्न भाषाओं के अध्ययन के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला है कि आर्य यूनानी पर्शियन अंग्रेज आदि एक ही स्थान अर्थात मध्य एशिया से निकले हुए हैं

2500 ईसा पूर्व आर्य लगभग भारत आए ऋग्वेद का रचनाकाल 2500 ईसा पूर्व है ऋग्वेद के बाद यजुर्वेद सामवेद तथा अथर्ववेद की रचना हुई ऋग्वेद विश्व की सबसे पुरानी पुस्तक है इसमें 1028 सुप्त वैदिक सभ्यता एक ग्रामीण सभ्यता थी यह सिंधु घाटी की तरह शहरी सभ्यता नहीं थी

Life introduction of Mahatma Buddha Indian Army Agniveer Model Test

इस धर्म के प्रवर्तक महात्मा बुध का जन्म 563 ईसा पूर्व कपिलवस्तु के नित्य लुंबिनी गांव में जो वर्तमान उत्तर प्रदेश के बस्ती नगर के उत्तर में नेपाल में स्थित है शाक्य राजा शुद्धोधन हुआ माता महामाया के घर हुआ

यशोधरा से विवाह व एक पुत्र राहुल के उत्पन्न होने के पश्चात घर त्याग दिया बचपन का नाम सिद्धार्थ था आधुनिक गाय के निकट उरुवेला के जंगल में ज्ञान प्राप्त हुआ पहला प्रचार उन्होंने सारनाथ जो कि वर्तमान में वाराणसी ने दिया 483 ईसा पूर्व कुशीनगर में उनकी मृत्यु हो गई

JainismIndian Army Agniveer Model Test Indian Army Agniveer Model Test

जैन धर्म के 24 तीर्थंकर हुए हैं प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेव जिन्हें आदिनाथ भी कहते हैं 23वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ थे तथा 24 में हुए अंतिम तीर्थ कर स्वामी महावीर जैन धर्म का प्रवर्तक स्वामी महावीर है

स्वामी महावीर का जन्म 599 ईसा पूर्व में वैशाली के राजा परिवार में कुंडलम ग्राम में नजदीक वैशाली में हुआ उनकी माता त्रिफला व पिता सिद्धार्थ थे

Maratha EmpireIndian Army Agniveer Model Test

मराठों का उत्कर्ष:- महान सेनानायक जीवजी ने अपने बाहुबल से 1674 ईस्वी में दक्षिणी भारत में मराठा राज्य की स्थापना की थी छत्रपति शिवाजी के पश्चात उनका जेष्ठ पुत्र शंभू जी कनिष्ठ पुत्र राजाराम राजाराम की पत्नी ताराबई तथा शिवाजी का पुत्र साहू मराठा शासक रहे

शिवाजी:- अहमदनगर के सरदार शाहजी भोंसले के पुत्र थे उन्होंने मुसलमानों से युद्ध कर दो अपना राज्य कायम कर लिया उन्होंने अफजल खान तथा सही सत्ता का को मारा मिर्जा राजा जयसिंह ने उन्हें धोखे से पकड़वा दिया परंतु वह चालाकी से आगरे के किले से बच निकला 1674 ईस्वी में रायगढ़ के किले से उन्होंने छत्रपति की उपाधि धारण की ओर 1680 में उनकी मृत्यु हो गई

sik kingdom:-

Establishment and Guru of Sikhism Indian Army Agniveer Model Test

सिख पंथ के संस्थापक गुरु नानक देव जी उनका जन्म 1469 इसमें तलवंडी वर्तमान ननकाना साहिब पंजाब पाकिस्तान में हुआ था चिंतन तथा भ्रमण द्वारा उन्होंने बहुत ज्ञान प्राप्त किया और सिख पंथ की नींव डाली वे समाज सुधारक थे और जाति पति तथा छुआछूत से विश्वास नहीं करते थे सिख पंथ से 10 गुरु हुए हैं

  • प्रथम गुरु नानक देव
  • दूसरे गुरु अंगद देव
  • तीसरे गुरु अमर दास
  • चौथे गुरू रामदास
  • पांचवें गुरु अर्जुन देव
  • सट्टे गुरु हरगोविंद
  • सातवें गुरु हर राय
  • गुरु हरकिशन
  • गुरु तेग बहादुर
  • गुरु गोविंद सिंह

5वी सिख गुरु अर्जुन देव ने अमृतसर में गुरु रामदास द्वारा शुरू किए गए ईश्वरण मंदिर को पूरा किया

अग्निवीर मॉडल टेस्ट 1 

Arrival of Europeans in India Indian Army Agniveer Model Test

पुर्तगाल राज्य:- भारत में प्रथम यूरोपियन का पदार्पण अफ्रीकन का चक्कर लगाकर एक भारतीय नाविक की सहायता से जलमार्ग द्वारा हिंदुस्तान के तट पर पहुंचे वाला पहला यूरोपियन व्यक्ति था

Model Test Agniveer Sena Bharti

Indian Army Agniveer Model Test/गोवा पर विदेशी प्रभुत्व

भारत से संपर्क के पश्चात आरंभ ने व्यक्ति तथा ईसाई धर्म का प्रचार करने वाले पुर्तगालियों के गवर्नर अलग रूप में 1510 इसमें बीजापुर के शासक से गोवा छीन लिया तथा गोवा पर अपना शासन स्थापित कर लिया

Indian Army Agniveer Model Test/फ्रांस राज्य

यूरोपियन में से सबसे अंत में फ्रांस के लोग भारत आए थे और उन्होंने 1664 में अपनी कंपनी स्थापित की तथा 1670 ईस्वी में पांडिचेरी तथा 1690 से 92 ईसवी में बंगाल में चंद्र नगर में स्थापित किया 1742 में दुबले नामक फ्रेंच गवर्नर भारत में आया और उसने अंग्रेजों को भारत से निकालने की ठानी

Indian Army Agniveer Model Test/अंग्रेज प्रभुत्व की स्थापना

ईस्ट इंडिया कंपनी जिसका निर्माण 16 ईसवी में ब्रिटिश सरकार द्वारा सार्थक प्रदान करने के परिणाम स्वरूप हुआ था 1612 में सूरत में पहली फैक्ट्री स्थापित की तथा आगरा अहमदाबाद बड़ोद मद्रास कोलकाता मैं

अपने व्यापार केंद्र स्थापित करने में सफलता प्राप्त की सर्वप्रथम 1757 ईस्वी में बंगाल पर विजय के उपरांत उन्होंने मराठा राजपूत सिख आदि सभी राजनीतिक शक्तियों को निरंतर पराजित किया

Indian Army Agniveer Model Test/प्रथम स्वतंत्रता संग्राम 1857

18 सो 57 में भारत के लगभग सभी हिस्से में से स्वतंत्रता के लिए विद्रोह हुआ इसमें बहादुर शाह जफर सेकंड को केंद्रीय नेता माना गया रानी झांसी ने ग्वालियर बेगम हजरत महल ने

लखनऊ तात्या टोपे बनाना साहब ने कानपुर अमर सिंह ने जगदीशपुर इत्यादि स्थानों पर नेतृत्व किया भारतीयों में राष्ट्रीय भावना का उद्भव हुआ सन 18 सो 57 ईस्वी के प्रथम स्वाधीनता संग्राम के दिए इसके साथ ही इस विशाल देश पर इंग्लैंड का पूर्ण प्रभुत्व स्थापित हो गया

Model Test Agniveer Sena Bharti

Indian Army Agniveer Model Test/भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस व इसके मुख्य अधिवेशन

कांग्रेस की स्थापना:- एक अंग्रेज अधिकारी ने 18 सो 85 ईस्वी में तत्कालीन गवर्नर लॉर्ड डफरिन सलाह लेकर भारतीय नेताओं से विचार विमर्श करने के एक शांतिपूर्ण संवैधानिक दल के रूप में इंडियन नेशनल कांग्रेस की स्थापना की कांग्रेस का प्रथम अधिवेशन 28 दिसंबर 1885 ईस्वी को मुंबई ने उमेश चंद्र बनर्जी की अध्यक्षता में संपन्न हुआ

  • सूरत अधिवेशन 1907- रासबिहारी बोस की अध्यक्षता में यह अधिवेशन हुआ यह अधिवेशन कांग्रेस में फूट के लिए प्रसिद्ध हुआ
  • लखनऊ अधिवेशन 1916- इसकी अध्यक्षता अंबिका चरण मजूमदार ने की यह लखनऊ समझौते के नाम से प्रसिद्ध है इसमें गरम दल के नेता पुणे कांग्रेसमें आ गए तथा यहां मुस्लिम लिंग से भी समझौता हुआ
  • लाहौर अधिवेशन 1929- यह युवा नेता जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में हुआ यह ऐतिहासिक अधिवेशन था इसमें पूर्ण स्वतंत्रता के प्रस्ताव को पास किया गया
  • त्रिपुरा अधिवेशन 1939- इस अधिवेशन की मुख्य बात यह भी है कि इसमें सुभाष चंद्र बोस ने अध्यक्ष पद के लिए गांधी जी से उम्मीदवार डॉक्टर पट्टाबी सीतारामी योग को हटाया

Model Test Agniveer Sena Bharti

Indian Army Agniveer Model Test/प्रसिद्ध विदेशी यात्री भारत आए:-

मेगस्थनीज- मेगस्थनीज एक प्रसिद्ध यूनानी इतिहासकार था वह 302 इस अपूर्व से 298 ईसा पूर्व तक भारत में रहा वह यूनानी शासक सेल्यूकस निकेटर कर राजदूत बनकर भारत में आया था

भारत के अपने प्रवास में वह मगध के राजा चंद्रगुप्त मौर्य के राज दरबार में गया उसने मगध साम्राज्य की राजनीतिक सामाजिक आर्थिक व धार्मिक स्थिति के बारे में तथा अन्य समकालीन राजाओं के बारे में अपनी पुस्तक इंडिका में विस्तृत वर्णन किया

फाह्यान- हां यार एक चीनी यात्री था जो भारत में 401 ईस्वी से 411 ईस्वी तक रहा वह बौद्ध धर्म का अनुयाई था वह भारत में चंद्रगुप्त द्वितीय के शासनकाल में आया था

हुआन च्वांग– फैजान की तरह हवान च्वांग d1 तीर्थ यात्री था उसका जन्म उत्सव 605 ईसवी में हुआ तथा 630 में भारत पहुंचा तथा भारत में 645 तक अर्थात 15 वर्ष तक रहा अपने प्रवास के दौरान वह हर्षवर्धन के राज्य में लगभग सभी जगहों पर घुमा

अग्निवीर सेना भर्ती आधिकारिक वेबसाइट का नाम www.joinindianarmy.nic.in

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
whatsapp Icon
Join Our Whatsapp Group