Ladli Bahna Yojna Latest News- क्या होगी लाड़ली बहन योजना बंद 2024

Advertisement

Ladli Bahna Yojna Latest News– मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बदलने से उनके द्वारा शुरू की गई योजनाएं और कार्यक्रम स्वत- वापस नहीं हो जाते। जानकार कहते हैं कि इतनी व्यापक रूप से लोकप्रिय योजना को जारी रखने का दबाब नए मुख्यमंत्री पर भी होगा। सवाल ये है कि लाडली बहना की मासिक सहायता को बढ़ाकर 3,000 रुपए करने और इसे अविवाहित महिलाओं तक बढ़ाने के वादे का क्या होगा।

शिवराज सिंह चौहान के सीएम पद से हटने के बाद प्रदेश भर की प्रिय बहनों में निराशा है। अब ‘भाई’ शिवराज नहीं होंगे मध्य प्रदेश के मुखिया, महिलाओं को चिंता है कि अब ‘लाडली बहना योजना’ बंद हो सकती है। इस मामले में राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है, कि मुख्यमंत्री बदलने से उनके द्वारा शुरू की गई योजनाएं और कार्यक्रम स्वत: वापस नहीं हो जाते। जानकारों का कहना है, ‘नए मुख्यमंत्री पर भी इतनी लोकप्रिय योजना को जारी रखने का दबाव होगा।

Advertisement

व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें: यहां क्लिक करें

सवाल यह है कि लाडली ब्राह्मण को मासिक सहायता 3,000 रुपये तक बढ़ाने और इसे अविवाहित महिलाओं तक पहुंचाने के वादे का क्या होगा, यह इस बात पर निर्भर करेगा कि ये बीजेपी के चुनावी घोषणापत्र का हिस्सा हैं या नहीं। अगर ये घोषणापत्र में हैं तो नये मुख्यमंत्री इससे बंधे होंगे। ऐसे में लाडली ब्राह्मण योजना के जारी रहने और शिवराज के मुख्यमंत्री बने रहने के बीच कोई संबंध नहीं ह। बीजेपी भी समझ रही है कि लाडली ब्राह्मण योजना की लोकप्रियता के कारण ही उसे भारी जनादेश मिला है।

Ladli Bahna Yojna Latest News

रिपोर्ट के मुताबिक, योजना की वजह से महिलाएं फैसले लेने में सक्षम हो रही हैं, जिसका नतीजा राज्य चुनावों में देखने को मिला। बीजेपी महिला मतदाताओं से जुड़ाव बनाने में सफल रही, हाशिए पर मौजूद हर चार में से तीन महिलाओं ने बीजेपी को वोट दिया, इस योजना का लाभ राज्य की सवा करोड़ महिलाओं को मिल रहा है. राज्य सरकार अब तक लाभार्थियों के खातों में 2,418 करोड़ रुपये जमा कर चुकी है। आने वाले दिनों में यह राशि 1,250 रुपये से बढ़ाकर 3,000 रुपये प्रति माह कर दी जाएगी।

Advertisement

सवाल यह है कि लाडली ब्राह्मण को मासिक सहायता 3,000 रुपये तक बढ़ाने और इसे अविवाहित महिलाओं तक पहुंचाने के वादे का क्या होगा, यह इस बात पर निर्भर करेगा कि ये बीजेपी के चुनावी घोषणापत्र का हिस्सा हैं या नहीं। अगर ये घोषणापत्र में हैं तो नये मुख्यमंत्री इससे बंधे होंगे। ऐसे में लाडली ब्राह्मण योजना के जारी रहने और शिवराज के मुख्यमंत्री बने रहने के बीच कोई संबंध नहीं ह। बीजेपी भी समझ रही है कि लाडली ब्राह्मण योजना की लोकप्रियता के कारण ही उसे भारी जनादेश मिला है।

Ladli Bahna Yojna

लाडली बहना के अलावा चौहान ने महिलाओं के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। 2006 में, शिवराज सिंह चौहान के सत्ता में आने के ठीक एक साल बाद, उन्होंने मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना शुरू की। इसके बाद 2006 में गांव की बेटी योजना, 2007 में लाड़ली लक्ष्मी योजना, 2008 में प्रतिभा किरण योजना, 2011 में बेटी बचाओ अभियान और 2014 में स्वागतम लक्ष्मी योजना और गौरवी अभियान शुरू किया गया। राज्य सरकार ने महिला केंद्रित तेजस्विनी भी शुरू की है। योजना, सबला योजना, लाडो अभियान आदि।- यहा देखे

Ladli Bahna Yojna Latest News- मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बदलने से उनके द्वारा शुरू की गई योजनाएं और कार्यक्रम स्वत- वापस नहीं हो जाते। जानकार कहते हैं कि इतनी व्यापक रूप से लोकप्रिय योजना को जारी रखने का दबाब नए मुख्यमंत्री पर भी होगा। सवाल ये है कि लाडली बहना की मासिक सहायता को बढ़ाकर 3,000 रुपए करने और इसे अविवाहित महिलाओं तक बढ़ाने के वादे का क्या होगा।

शिवराज सिंह चौहान के सीएम पद से हटने के बाद प्रदेश भर की प्रिय बहनों में निराशा है। अब ‘भाई’ शिवराज नहीं होंगे मध्य प्रदेश के मुखिया, महिलाओं को चिंता है कि अब ‘लाडली बहना योजना’ बंद हो सकती है। इस मामले में राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है, कि मुख्यमंत्री बदलने से उनके द्वारा शुरू की गई योजनाएं और कार्यक्रम स्वत: वापस नहीं हो जाते। जानकारों का कहना है, ‘नए मुख्यमंत्री पर भी इतनी लोकप्रिय योजना को जारी रखने का दबाव होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
whatsapp Icon
Join Our Whatsapp Group